कांटैक्ट करने का प्रयास: 4635 में से 1428 लोगों को दूसरा डोज देने के लिए, नहीं हो रहा संपर्क

रांचीएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

  • जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम से सदर अस्पताल, रिम्स व रिसालदार बाबा सीएचसी में पहला डोज लेने वालों को किया जा रहा कॉल

हैलो… जिला प्रशाासन के कंट्रोल रूम से बोल रहे हैं। वैक्सीन के दूसरे डोज का निर्धारित समय आपके लिए पूरा हो चुका है। मगर, अभी तक आपने दूसरा डोज नहीं लिया है। इसलिए, जल्द नजदीक के वैक्सीन सेंटर में जाएं। दूसरा डोज जरूर लें। इस प्रकार के कॉल उन लोगों को जा रहे हैं, जिन्होंने अपना पहला डोज लिया, मगर निर्धारित तिथि के बाद भी दूसरा डोज नहीं लिया। दो जून से यह व्यवस्था शुरू की गई है। इसके तहत 4935 लोगों से कांटैक्ट करने का प्रयास किया गया।

1031 लोगों ने कॉल का रिस्पांस देते हुए डोज लेने की बात कही। वहीं, 2320 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने दूसरा डोज ले लिया। मगर, कोविन पोर्टल पर अपडेट नहीं हुआ। 141 लोगों ने बताया कि वे कोरोना पॉजिटिव हैं। जबकि, 15 लोगों के निधन की जानकारी मिली है। वहीं, 1428 लोग ऐसे हैं, जिनसे संपर्क नहीं हो पाया। क्योंकि, इनके फोन नंबर पर कॉल के दौरान नॉट रिचेबल, स्विच ऑफ या रॉन्ग नंबर पाया गया। वर्तमान में सभी लोगों को एक-एक बार कॉल किया जा रहा है।

2320 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने दूसरा डोज ले लिया है लेकिन कोविन पोर्टल पर अपडेट नहीं हुआ

कंट्रोल रूम से पहले चरण में सदर अस्पताल, रिम्स और रिसालदार बाबा सीएचसी में कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लेने वालों को कॉल किया जा रहा है। सभी का डेटा कोविन पोर्टल से निकाला जा रहा है। जिसमें नाम, उम्र, सेंटर नाम, वैक्सीन का नाम, पहला डोज कब लिया सहित तमाम जानकारियां लेने के बाद दूसरे डोज की तिथि जिसकी पार हो गई, यानि दूसरा डोज जिनका पेंडिंग है, उनकी सूची तैयार कर कॉल किया जा रहा है। इन तीन सेंटरों के बाद ब्लॉक के सीएचसी-पीएचसी में पहला डोज लेने वालों को कॉल किया जाएगा। इसके बाद शहरी क्षेत्र व अन्य क्षेत्रों में बने छोटे सेंटरों में टीका लेने वालों की सूची निकाल कर उनको कॉल किया जाएगा।

संपर्क नहीं होने की स्थिति में दोबारा किया जाएगा कॉल

दूसरा डोज लेने की तिथि गुजर जाने के बावजूद टीका नहीं लेने वालों को दोबारा कॉल कर संपर्क करने का प्रयास किया जाएगा। दूसरी ओर, कंट्रोल रूम से पहले की तरह कोरोना पॉजिटिव मरीजों को कॉल किया जा रहा है। लक्षण वाले मरीजों को अस्पताल में भर्ती और जो होम आइसोलेशन में हैं, उन्हें भी जरूरत पड़ने पर कॉल करने की बात कही जा रही है। मालूम हो कि कंट्रोल रूम में 40 कॉलर, रिसीवर और शिफ्ट इंचार्ज आदि की टीम कार्यरत थी। कोरोना की दूसरे लहर के कमजोर होने पर 28 लोगों को तीन शिफ्ट में प्रतिनियुक्त किया गया है। यह टीम लोगों के पेंडिंग डोज का पूरा कराने के लिए लगातार कॉल करती रहेगी।

खबरें और भी हैं…

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *