शादी के बिना ही लौट गई थी बारात: गया में 12 दिनों बाद मंदिर में कराई गई शादी, डांस को लेकर बारात में हुआ था विवाद, दूल्हे को लेकर वापस आ गई थी बारात

गया7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सामाजिक संगठन की पहल पर हुई शादी।

गया जिले के बांके बाजार थाना क्षेत्र के तिलैया गांव से 31 मई को बिना शादी के बारात लौट गई थी। जयमाला का कार्यक्रम खत्म होने के बाद बाराती और शराती के बीच डांस को लेकर जमकर विवाद हो गया था। जिसके बाद नाराज होकर बारात पक्ष के सभी लोग चले गए थे। 12 दिनों के प्रयास के बाद लड़का और लड़की की शादी मंदिर में करवाई गई।

दोनों पक्षों का विवाद सुलझाया गया

दरअसल, बगैर शादी के ही बरात के लौटने की खबर इलाके में जोरों पर था। इस घटना की भनक पासवान उत्थान मंच को लगी तो मंच के सदस्य शादी कराने को लेकर सक्रिय हो गए। मंच के सदस्य तिलैया गांव पहुंचे और पूरी घटना की जानकारी ली। इसके बाद दोनों पक्षों को मिलाने की ठान ली। वहीं दोनों पक्षो को समझाने की कोशिश लगातार चल रही थी। करीब 12 दिनों के प्रयास के बाद दोनों पक्ष शादी के लिए तैयार हो गए। मंच के अध्यक्ष बबन पासवान और सचिव कपिल देव पासवान दोनों पक्षों के बीच सुलह कराने में सफल हो गए।

मंदिर में हुई शादी

11 जून को चंडीस्थान के शिव मंदिर में विधि पूर्वक लड़का-लड़की की शादी करवाई गई। उत्थान मंच के अध्यक्ष बबन पासवान ने बताया कि तिलैया गांव की लड़की और शमशेरखाप गांव के लड़के के बीच शादी ठीक हुई थी। शादी की पूरी तैयारी के साथ हर रीति- रिवाज लगभग पूरी हो चुकी थी जयमाला खत्म होने के बाद डांस को लेकर अचानक बाराती और शराती में विवाद हो गया था उसके बाद बरात लड़की के दरवाजे से वापस लौट गई। बारह दिन बाद उत्थान मंच के पहल पर दोनों में सुलह करवा कर शादी कराई गई।

खबरें और भी हैं…

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *