शेयर बाजार अपडेट: 1145 अंक से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी भी गिरा

नई दिल्ली: देश में बढ़ते कोरोनावायरस के मामलों का असर बाजार पर भी पड़ता है। आज सप्ताह के कारोबार खुलने के पहले दिन बॉम्बे स्टॉक एक्स क्वीन का सेंसेक्स 1,145.44 अंक लुढ़क गया। बीएसई में लगातार पांच दिन गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को कोरोना के बढ़ते मामलों का डर दर्शकों में साफ नज़र आया और उन्होंने बेचे को शेयर किया। आज सुबह मार्केट के इंडेक्स में 50,986.03 के सबसे ऊंचे स्तर को भी छुआ है। हालांकि शाम होते होते भारी गिरावट के साथ बाजार बंद हो गया। इसके अलावा निफ्टी भी 306.05 अंक के नुकसान पर बंद हुआ।

बहुत फिसलन की गिरावट है

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,145.44 अंक यानी 2.25 प्रतिशत का नुकसान से 49,744.32 अंक पर आ गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 306.05 अंक यानी 2.04 प्रतिशत टूटकर 14,700 अंक से नीचे 14,675.70 अंक पर बंद हुआ। रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और एचडीएफसी जैसी बड़ी कंपनियों के शेयरों में गिरावट से सेंसेक्स में ये गिरावट दर्ज की गई। वैश्विक उड़ानों के नकारात्मक रुख ने भी बाजार धारणा को प्रभावित किया।

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में डॉ। रेड्डीज का शेयर सबसे अधिक लगभग पांच प्रतिशत टूट गया। महिंद्रा एंड महिंद्रा, टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक और टीसीएस के शेयर भी नुकसान में रहे। वहीं दूसरी ओर ओट्ससी, एचडीएफसी बैंक और कोटक बैंक के शेयर लाभ में रहे।

आनंद राठी के सकारात्मक शोध (बुनियादी) प्रमुख नरेंद्र सोलंकी ने कहा, “एशियाई व्यापारियों के मिले जुले रुख के बीच भारतीय बाजार भी स्थिर रुख के साथ खुले। चीन के सेंट्रल बैंक पीबीओसी द्वारा ब्याज दरों को यथावत रखने की वजह: चीन के बाजार नुकसान। में रहा। जापान के बाजार में मामूली वृद्धि थी। ”

उन्होंने कहा कि दोपहर के कारोबार में बाजार में गिरावट आई। कोविद -19 के मामले बढ़ने की चिंता और इसके आर्थिक प्रभाव पूर्व के अनुमान से कहीं अधिक रहने की आशंका से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई है। अन्य एशियाई स्पेक्ट्रमों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्प नुकसान में थे। वहाँ जापान के निक्की में लाभ हो रहा है। मालिकों के कारोबार में यूरोपीय बाजार को भी नुकसान हुआ। इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.66 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 62.55 डॉलर प्रति डॉलर पर कारोबार कर रहा था।

पेट्रोल की कीमत पर राहुल गांधी का हमला, बोले- आपकी जेब खाली कर ‘दोस्तों’ का बोनस भरने वाली सरकार



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *