JAC 10वीं-12वीं की परीक्षा रद्द: हाई लेवल मीटिंग के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने की घोषणा; मार्क्स के निर्धारण पर नहीं हो सका है निर्णय, दोनों कक्षाओं में 8 लाख बच्चों को परीक्षा में होना था शामिल

रांची16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

CM हेमंत सोरेन ने झारखंड एकेडमिक काउंसिल के साथ चर्चा के बाद एग्जाम रद्द करने की घोषणा की है। (फाइल)

CBSE के बाद अब झारखंड में भी इस साल 10वीं और 12वीं की परीक्षा नहीं होगी। राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थितियों को देखते हुए CM हेमंत सोरेन ने झारखंड एकेडमिक काउंसिल के साथ चर्चा के बाद इसे रद्द करने की घोषणा की है। इससे दोनों कक्षाओं के लगभग 8 लाख बच्चे इस बार परीक्षा नहीं देंगे। हालांकि इनके मार्क्स का निर्धारण किस आधार पर होगा, फिलहाल इसकी घोषणा नहीं कि गई है।

CBSE समेत अन्य राज्यों में परीक्षाएं रद्द होने के बाद झारखंड बोर्ड से संबंधित छात्र और उनके अभिभावक काफी तनाव में थे और उनके द्वारा परीक्षाएं रद्द करने की मांग बार-बार सोशल मीडिया पर की जा रही थी। हेमंत सोरेन ने कहा था कि राज्य में मुश्किल से कोरोना को काबू में किया गया है। तीसरी लहर की आशंका अभी भी बनी हुई है और ये बच्चों के लिए खतरनाक है।

जैक बोर्ड दुविधा में, कैसे हो मार्किंग
इधर, जैक बोर्ड को परीक्षा परिणाम जारी करने में काफी मशक्कत करना पड़ेगा। दरअसल 8वीं, 9वीं और 11वीं में एक-दो परीक्षाएं हो जाती तो मूल्यांकन का कुछ आधार बनता। अब बोर्ड मार्किंग सिस्टम को लेकर ही दुविधा में है। बोर्ड के कर्मचारी, पदाधिकारी तथा हाई स्कूल के शिक्षक तक परेशान हैं। जिला स्तर के पदाधिकारी भी इस संबंध में जैक बोर्ड को कोई सुझाव नहीं दे पा रहे हैं। सरकारी हाईस्कूलों के प्रधानाध्यापक व तेज तर्रार शिक्षक लगातार बोर्ड के पदाधिकारियों के संपर्क में है, लेकिन कोई भी कुछ खुल कर बोल नहीं पा रहा है। साफ कहना है कि पहले निर्णय सरकार को लेना है, उसके बाद बोर्ड मार्किंग प्रक्रिया के बारे में मंथन करेगा।

खबरें और भी हैं…



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *