Jharkhand JAC Baoard tenth, twelfth Examination 2021: जैक के मैट्रिक-इंटरमीडिएट रिजल्ट का फार्मूला तय

Jharkhand JAC Baoard tenth, twelfth Examination 2021: झारखंड एकेडमिक काउंसिल के मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा रद्द होने के बाद उसके छात्र-छात्राओं के मूल्यांकन का आधार तय कर लिया गया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सहमति के बाद स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने रिजल्ट निकालने का फार्मूला तय किया है। मैट्रिक का रिजल्ट मुख्य रूप से छात्र छात्राओं के नौंवी के रिजल्ट के आधार पर और इंटरमीडिएट का रिजल्ट 11वीं के रिजल्ट के आधार पर निकाले जाएंगे। इसके साथ साथ प्रैक्टिकल के नंबर भी जोड़े जाएंगे। मैट्रिक और इंटरमीडिएट दोनों में 90 फ़ीसदी से ज्यादा छात्र छात्राओं का प्रैक्टिकल हो चुका था। जो छात्र छात्राएं प्रैक्टिकल नहीं दे पाए थे, उनका नए सिरे से प्रैक्टिकल लिया जाएगा। झारखंड सरकार ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा को लेकर 21 दिसंबर 2020 से स्कूल खोला था जो अप्रैल के पहले सप्ताह तक चला था। इसमें अभिभावकों की सहमति पर ही छात्र-छात्राओं को स्कूल आना था। करीब 30 फ़ीसदी परीक्षार्थी स्कूल आ सके थे। ऐसे में स्कूल के क्लास को भी आधार बनाने का फार्मूला तय किया गया है। जो छात्र छात्राएं इन तीन महीने स्कूल नहीं आ सके थे, उनके स्कूल उपस्थिति का आधार पिछली क्लास से निकाला जाएगा। इसके लिए एक मूल्यांकन पैनल बनाया जाएगा। इस पैनल में संबंधित स्कूल के दो और बाहर के स्कूल के एक शिक्षक को रखा जाएगा। यह पैनल छात्र-छात्राओं की उपस्थिति, अनुशासन, उनकी पढ़ाई, मॉडल प्रश्न पत्र में उनके परफारमेंस को आधार मानकर इंटरनल एसेसमेंट करेगा। स्कूल के शिक्षकों का पैनल अपने छात्र छात्राओं का इन मापदंडों पर ही मूल्यांकन कर रिपोर्ट सौपेगा।

प्रैक्टिकल में 10, इंटरनल असेसमेंट में मिलेंगे 20 अंक
– स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने प्रैक्टिकल और इंटरनल एसेसमेंट के लिए फिर से अंक निर्धारण कर दिया है। विज्ञान के छात्रों को प्रैक्टिकल के लिए 10 अंक मिलेंगे, जबकि इंटरनल असेसमेंट के 20 अंक दिए जाएंगे। वहीं नौवीं और 11वीं के रिजल्ट के आधार पर 70 अंक मिलेंगे। आर्ट्स और कॉमर्स के छात्रों के लिए इंटरनल असेसमेंट के 20 अंक और नौवीं व 11वीं की परीक्षा फल के लिए 80 अंक मिलेंगे।

जैक ने बुलाई बैठक
– झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने शनिवार को सभी क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक और जिला शिक्षा पदाधिकारियों की वर्चुअल बैठक बुलाई है। उन्हें स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग की ओर से तय किए गए मापदंडों की जानकारी दी जाएगी। सभी को निर्देश दिया जाएगा कि वह अपने जिलों के उन सभी हाई और प्लस टू स्कूलों में तीन-तीन शिक्षकों का मूल्यांकन पैनल तैयार करवाएंगे। साथ ही, मूल्यांकन की जो आधार तय किए गए हैं उसके आधार पर असेसमेंट करेंगे।

सीबीएसई-आईसीएसई के साथ जारी होगा जैक का रिजल्ट: मुख्यमंत्री
– सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के साथ झारखंड एकेडमिक काउंसिल के मैट्रिक और इंटरमीडिएट का रिजल्ट जारी होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शुक्रवार को स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग को निर्देश दे दिया है। मुख्यमंत्री स्पष्ट रूप से कहा है कि कोरोना संक्रमण के संकट और इससे उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए झारखंड बोर्ड की मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा रद्द की गई है। सीबीएसई, आईसीएसई और कई अन्य राज्यों के द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षा रद्द करने के साथ परीक्षा फल के प्रकाशन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। ऐसे में झारखंड बोर्ड से रजिस्टर्ड परीक्षार्थियों के हित में आवश्यक होगा कि अन्य सभी बोर्ड के साथ ही या उसके कुछ दिन पहले या तुरंत बाद झारखंड बोर्ड का परीक्षा फल प्रकाशन सुनिश्चित हो। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग को अहम निर्देश दिए हैं, ताकि प्लस टू और कॉलेजों में शुरू होने वाली नामांकन प्रक्रिया में झारखंड बोर्ड के विद्यार्थियों को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

बॉक्स के लिए :-
नौवीं 2020 का था रिजल्ट ;-

परीक्षार्थी शामिल हुए : 4.17 लाख
पास हुए : 4.06 लाख

फेल हुए : 10,537
रिजल्ट का प्रतिशत : 97.42

11वीं 2020 का था रिजल्ट :-

परीक्षार्थी शामिल हुए : 3,39,061
पास हुए : 3, 23 924

फेल हुए : 15,137
रिजल्ट का प्रतिशत : 95.53

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *